सिंहस्थ में सुबह तीन बजे शुरू हुआ शाही स्नान, लाखों श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

सिंहस्थ में सुबह तीन बजे शुरू हुआ शाही स्नान, लाखों श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

PUBLISHED : May 21 , 9:53 AMBookmark and Share


मध्य प्रदेश की धार्मिक नगरी उज्जैन में सिंहस्थ का तीसरा और अंतिम शाही स्नान शुरू हो गया. अखाड़ों के साधुओं व संतों का स्नान सुबह 3 बजे से शुरू हुआ जो 11 बजे तक चलेगा. 25 लाख से ज्यादा श्रद्धालु मोक्ष दायिनी क्षिप्रा में आस्था की डुबकी लगाने पहुंचे हैं.

वैशाख शुक्ल पूर्णिमा पर उज्जैन सिंहस्थ के अंतिम शाही स्नान पर मोक्षदायिनी क्षिप्रा नदी में 13 अखाड़ों के साधु-संत डुबकी लगा रहे हैं. लाखों श्रद्धालु भी क्षिप्रा नदी में शाही स्नान कर रहे हैं.
दुनिया के इस सबसे बड़े धार्मिक मेले में लाखों की संख्या में श्रद्धालु भी सिंहस्थ अमृत स्नान का पुण्य लाभ लेने उज्जैन पहुंचे.

माना जा रहा है कि अब तक 25 लाख श्रद्धालु उज्जैन पहुंचे हैं. श्रद्धालुओं के देर रात से ही महाकाल की नगरी में जुटना शुरू हो गया था. दिन भर में यह आंकड़ा ओर बढ़ने की उम्मीद हैं. इसके चलते सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं.

प्रशासन ने रामघाट और दत्त अखाड़ा घाट को छोड़कर अन्य घाटों पर भक्तों के स्नान की व्यवस्था की है. यह दोनों घाट अखाड़ों के स्नान के लिए रिजर्व रखे गए है. 11 बजे बाद यह दोनों घाट आम श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे.

प्रशासन की ओर से करीब आठ किलोमीटर लंबे घाटों पर श्रद्धालुओं के स्नान की व्यवस्था की गई है.

अखाड़ा परिषद ने शाही स्नान के लिए 3 बजे का वक्त तय किया था. आम श्रद्धालुओं के लिए रामघाट और दत्त घाट जल्दी खोल दिए जाए इसके लिए स्नान का समय सुबह तीन बजे किया गया.

शैव व वैष्णव सम्प्रदाय के अखाड़ों के साधु-संतों ने एक साथ डुबकी लगाईं

दरअसल, यह पहला अवसर है जब क्षिप्रा के दत्त अखाड़ा व रामघाट तटों पर एक साथ शैव और वैष्णव संप्रदाय के साधु-संतों ने एक साथ स्नान किया.

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया था.

-सुबह 3 बजे से अखाड़ों के क्षिप्रा के तट पर पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया था.

-सबसे पहले श्री पंचदशनाम जूना अखाड़ा (दत्त अखाड़ा) स्नान के लिये दत्तअखाड़ा घाट पहुंचा.

-वैशाख शुक्ल पूर्णिमा पर शाही स्नान के लिए महाकाल की नगरी में श्रद्धालुओं का मेला लगा है.

-भारी तादाद में श्रद्धालु देर रात से ही घाटों पर जुटने लगे.

-प्रशासन की ओर से भी पूरी चौकसी बरती जा रही है.

-सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए है.

-सभी घाटों के अलावा महाकाल मंदिर और शहर में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाकर्मियों की पैनी नजर है.

लाइफ स्टाइल

हड्डियां कमजोर क्यों हो जाती हैं, मजबूत हड्डियों क...

PUBLISHED : Oct 22 , 10:53 AM

Food For Strong Bones: धूप से बचने की प्रवृत्ति, कैल्शियम की कमी (Calcium Deficiency) और खराब जीवनशैली के कारण लोगों में...

View all

साइंस

20 साल के स्टूडेंट ने किया कमाल, आलू से बनाई डिग्र...

PUBLISHED : Oct 22 , 11:03 AM

चंडीगढ़: चंडीगढ़ की चितकारा यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट प्रनव गोयल ने आलू में मौजूद स्टॉर्च से प्लास्टिक जैसी एक नई चीज बनाई...

View all

वीडियो

View all

बॉलीवुड

Prev Next