2022 में चंद्रमा पर मानव मिशन की तैयारी, 'गगनयान' के जरिए रचा जाएगा इतिहास

2022 में चंद्रमा पर मानव मिशन की तैयारी, 'गगनयान' के जरिए रचा जाएगा इतिहास

PUBLISHED : Sep 01 , 8:39 AMBookmark and Share



नई दिल्ली: अंतरिक्ष उत्साहियों के लिए चंद्रमा पर मानव मिशन भेजना हमेशा एक बड़ा सपना रहा है, और इस क्षेत्र में काम कर रही कंपनियों स्पेस एक्स के सीईओ रलोन मस्क, ब्लू ऑरिजिन के सीईओ जेफ बेजोस और वर्जिन गैलेक्टिस के संस्थापक सर रिचर्ड ब्रानसन के साथ ही नासा का लक्ष्य मनुष्य को गहरे अंतरिक्ष में भेजना है, जिसके लिए चंद्रमा आनेवाले सालों में एक पड़ाव का काम करेगा. भारत ने पांच साल पहले एक इतिहास रचा था, जब किसी देश ने पहले ही प्रयास में चंद्रमा की कक्षा में पहुंचने में कामयाबी हासिल की. अब साल 2022 तक चंद्रमा पर एक मानव मिशन भेजने की तैयारी की जा रही है.

देश के महत्वाकांक्षी 'गगनयान' कार्यक्रम के तहत दो अनमैन्ड और एक मैन्ड (मानवयुक्त) फ्लाइट अंतरिक्ष में भेजने की योजना है. देश का मानवयुक्त अंतरिक्ष मिशन प्रधानमंत्री की प्रिय परियोजनाओं में से एक है. इसकी लागत करीब 10,000 करोड़ रुपये होने का अनुमान लगाया गया है.

भारतीय अंतरिक्ष शोध संगठन (इसरो) के ह्यूमन स्पेस फ्लाइट सेंटर (एचएसएफसी) का लक्ष्य 2022 तक अंतरिक्ष यात्री को अंतरिक्ष में भेजना है. इसरो ने 'गगनयान' परियोजना में मदद के लिए रूस की लांच सेवा प्रदाता ग्लावकोसमोस से समझौता किया है. ह्यूमन स्पेस फ्लाइट सेंटर में मानव स्पेश मिशन्स के लिए जरूरी प्रौद्योगिकीयों को विकसित किया जा रहा है.

लाइफ स्टाइल

बढ़ते मोटापे से हैं परेशान ? आपका कुकिंग ऑयल भी हो...

PUBLISHED : Jan 21 , 8:42 PM

सोयाबीन तेल के सेवन से न सिर्फ मोटापा और मधुमेह हो सकता है बल्कि इससे दिमाग में भी कई तरह के आनुवांशिक बदलाव हो जाते हैं...

View all

साइंस

दिल्ली के राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र में विज्ञान समा...

PUBLISHED : Jan 21 , 8:45 PM

नई दिल्ली: दिल्ली के प्रगति मैदान स्थित राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र में मंगलवार को विज्ञान समागम का आगाज हुआ. देश की राजधान...

View all

वीडियो

View all

बॉलीवुड

Prev Next