युवा स्वयं को पहचान कर लक्ष्य बनायें

युवा स्वयं को पहचान कर लक्ष्य बनायें

PUBLISHED : Feb 24 , 7:13 AMBookmark and Share



मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जीवन में कुछ भी असंभव नहीं है। जरूरत स्वयं को पहचान, लक्ष्य तय कर उसे पाने के प्रयासों की है। उन्होंने कहा कि युवाओं के सपनों को साकार करने में प्रदेश सरकार भरपूर सहयोग करेगी। श्री चौहान आज यहाँ ओरिएन्टल कॉलेज ऑफ सांइस एण्ड टेक्नालॉजी में कम्प्यूटर एडेड डिजाइन एन्ड मैन्यूफैक्चरिंग लेब का शुभारंभ कर रहे थे। अध्यक्ष नगर निगम श्री सुरजीत सिंह चौहान भी मौजूद थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश सरकार युवाओं के सपनों को साकार करने में हर संभव सहयोग कर रही है। शिक्षा के लिये नि:शुल्क पुस्तकें, गणवेश, छात्रवृत्ति और उच्च शिक्षा ऋण उपलब्ध करा रही है जिसकी गारंटी और ब्याज राज्य सरकार देती है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में उद्योगों का जाल बिछाने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना और मुख्यमंत्री कान्ट्रेक्टर योजना जैसी योजनाएँ संचालित की गयी हैं। इनोवेटिव परियोजनाओं के लिये 100 करोड़ का वेंचर केपिटल फन्ड बनाया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आधुनिक बुनियादी सुविधाओं का ढाँचा भी तैयार किया गया है। देश की स्मार्ट सिटी की प्रथम 20 नगरों की सूची में प्रदेश के तीन नगर शामिल हैं। उन्होंने बताया कि सरकार शहरों को बदलने के लिये 75 हजार करोड़ रूपये व्यय करेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बेटा-बेटी में भेदभाव को खत्म करने की जरूरत बताई। उन्होंने बताया कि सरकार ने इस भेद को खत्म करने के लिये लाड़ली लक्ष्मी और मुख्यमंत्री कन्यादान योजनाएँ बनाकर सफलता से लागू की हैं। महिलाओं के सशक्तीकरण के लिये स्थानीय निकायों के निर्वाचन और शासकीय शिक्षकों के पदों में 50 प्रतिशत स्थान महिलाओं के लिये आरक्षित किये हैं। इसी प्रकार वन विभाग को छोड़कर शेष सभी विभाग में भी महिलाओं के लिये 33 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश तेजी से आगे बढ़ने वाला राज्य है। कभी बीमारू कहे जाने वाले राज्य की 8 वर्षों से विकास दर डबल डिजिट में है। कृषि में जैसा विकास प्रदेश में हुआ है वैसा दुनिया में कही नहीं हुआ है। लगातार चार वर्ष से प्रदेश को कृषि कर्मण पुरस्कार मिल रहा है। कृषि विकास दर 20 प्रतिशत से अधिक बनी हुई है।

इस अवसर पर कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के उप कुलपति श्री पीयूष त्रिवेदी, संस्थान के फाउन्डर चेयरमेन श्री के.एल. ठकराल और चेयरमेन ऑफ ओरिएन्टल ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन श्री प्रवीण ठकराल भी उपस्थित थे।

लाइफ स्टाइल

Survey : घरों के परदों और सोफे से भी होती है सांस ...

PUBLISHED : Aug 17 , 2:40 AM

आमतौर पर माना जाता है कि सांस की बीमारी सिगरेट, बीड़ी पीने से होती है। पर, पिछले डेढ़ साल में हुए शोध के मुताबिक बिना धूम्...

View all

साइंस

न्यू जीलैंड में विशालकाय पेंग्विन के जीवाश्म मिले

PUBLISHED : Aug 17 , 3:12 AM

न्यू जीलैंड के दक्षिणी द्वीप पर एक वयस्क मनुष्य के आकार के बराबर एक विशालकाय पेंग्विन के जीवाश्म पाया गया है। वैज्ञानिको...

View all

वीडियो

View all

बॉलीवुड

Prev Next