बिल्कुल सही है पीएम मोदी की बीए की डिग्री, दिल्ली यूनिवर्सिटी ने लगाई मुहर

बिल्कुल सही है पीएम मोदी की बीए की डिग्री, दिल्ली यूनिवर्सिटी ने लगाई मुहर

PUBLISHED : May 11 , 8:16 AMBookmark and Share


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ग्रेजुएशन बीए की डिग्री पूरी तरह सही है. दिल्ली यूनिवर्सिटी ने मंगलवार को पीएम मोदी के बीए की डिग्री पर मुहर लगा दी. यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार तरुण दास से कहा कि पीएम मोदी ने डीयू से ग्रेजुएशन किया था.

उन्होंने यह भी कहा कि पीएम मोदी के मार्कशीट और डिग्री में अंकित नाम में त्रुटि है, लेकिन यह सौ फीसद सही है. पीएम मोदी के ग्रेजुएशन करने की डिटेल यूनिवर्सिटी के रिकॉर्ड में भी दर्ज है.
इसके साथ ही आम आदमी पार्टी (आप) और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की ओर से पीएम मोदी की डिग्री पर उठाए जा रहे सवालों पर भी फिलहाल विराम लग गया है.

रजिस्ट्रार तरुण दास के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एनरोलमेट नंबर सीसी 594/74 है और उनका रोल नंबर डीयू रिकॉर्ड के अनुसार 16594 है.

इसी तरह डीयू ने ये भी स्पष्ट किया है कि चूंकि प्रधानमंत्री ने 1978 में अपनी बीए की पढ़ाई की पूरी की तो व्यावहारिक प्रक्रिया के तहत उन्हें 1979 मे डिग्री जारी हुई.

विश्वविद्यालय रजिस्ट्रार के स्तर पर सामने आई प्रधानमंत्री की डिग्री की सच्चाई को जगजाहिर करने के मामले में कहा गया है कि चूंकि मामला एक छात्र की व्यक्तिगत जानकारी से संबंधित रहा है, इसलिए डीयू इसे किसी भी व्यक्ति को यूं ही मुहैया नहीं करा सकता है. उन्होंने कहा कि ये सुरक्षा हम डीयू में पंजीकृत हर छात्र को मुहैया कराते हैं फिर वो चाहे सामान्य छात्र हो या फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदर दास मोदी.

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की डिग्री पर सवाल उठाने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और वित्त मंत्री अरूण जेटली ने तगड़़ा पलटवार किया. दोनों नेताओं ने एक प्रेस कांफ्रेंस कर पीएम मोदी की डिग्रियां सार्वजनिक की.

इसके बाद अमित शाह ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है. बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि किस सूचना के आधार पर केजरीवाल ने प्रधानमंत्री की डिग्री पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा कि डिग्री को लेकर भ्रम फैलाया गया है. केजरीवाल को माफी मांगनी चाहिए. केजरीवाल ने सार्वजनिक जीवन का स्तर गिरा दिया है.

वहीं अरूण जेटली ने कहा कि प्रधानमंत्री उस समय गुजरात से आकर यहां परीक्षा देते थे. उनका रुकना अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के ऑफिस में होता था. प्रधानमंत्री ने कठिन स्थितियों में परीक्षा दी है. जेटली ने भी कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री को अपने गैर-जिम्मेदराना व्यवहार के लिए माफी मांगनी चाहिए.

लाइफ स्टाइल

Survey : घरों के परदों और सोफे से भी होती है सांस ...

PUBLISHED : Aug 17 , 2:40 AM

आमतौर पर माना जाता है कि सांस की बीमारी सिगरेट, बीड़ी पीने से होती है। पर, पिछले डेढ़ साल में हुए शोध के मुताबिक बिना धूम्...

View all

साइंस

न्यू जीलैंड में विशालकाय पेंग्विन के जीवाश्म मिले

PUBLISHED : Aug 17 , 3:12 AM

न्यू जीलैंड के दक्षिणी द्वीप पर एक वयस्क मनुष्य के आकार के बराबर एक विशालकाय पेंग्विन के जीवाश्म पाया गया है। वैज्ञानिको...

View all

वीडियो

View all

बॉलीवुड

Prev Next