ताजमहल पर अटैक, खतरे में मोहब्बत की निशानी

ताजमहल पर अटैक, खतरे में मोहब्बत की निशानी

PUBLISHED : May 11 , 1:44 PMBookmark and Share

मोहब्बत की निशानी ताजमहल का अस्तित्व खतरे में है. अपनी खूबसूरती के लिए दुनिया भर में मशहूर ताजमहल पर इन दिनों खतरनाक काइरोनोमस नाम के कीड़े ने हमला बोल दिया है. यह कीड़ा इतना खतरनाक है कि इसने अमेरिका में भी कई धरोहरों तो तबाह कर दिया गया है. इस कीड़े के हमले से ताज की सुंदरता पर धब्बे लग रहे हैं. यह कीड़ा ताज के सफ़ेद संगमरमर को हरे रंग के दागों से भर रहा है. अगर इसे समय रहते नहीं रोका गया तो यह कीड़ा ताजमहल की दीवारों और पच्चीकारी को हरे रंग में रंग देगा. आगे की स्लाइड्स में देखिए कैसे काइरोनोमस बदसूरत बना रहा है ताजमहल को.हरे दाग देने वाला यह दुश्मन पिछले एक महीने से ताज पर हमला कर रहा है. इस हमले से बचने के लिए भारतीय पुरातत्त्व विभाग भी कोई इंतजाम नहीं कर पा रहा है. ये हमला एक ऐसे कीड़े का है जो अमेरिका सहित कई देशों को डरा चुका है. आपको बता दें कि इस कीड़े का नाम गोल्डी काइरोनोमस है. यह कीड़ा ज्यादारतर गन्दगी में पाया जाता है और यह गोल्डी काइरोनोमस पानी में ज्यादा प्रदूषण या फॉस्फोरस के अधिक इस्तेमाल होने पर पनपता है. यह दिखने में एक मच्छर जैसा है. यह कीड़ा ताजमहल के संगमरमरी हुस्न पर हमला बोलते हुए हरा रंग छोड़ रहा है.
यही वजह है कि दुनिया के सात अजूबों में शामिल ताजमहल पर गंदगी कर रहे गोल्डी काइरोनोमस कीड़े का असर अब बढ़ने लगा है. अब तक स्मारक में पच्चीकारी व दीवारों को नीचे की तरफ हरा कर रहे कीड़ों का असर अब ऊपर तक दिखाई देने लगा है. अष्टकोणीय ताज के उत्तर-पूर्वी और उत्तर-पश्चिमी किनारों पर भी हरे रंग की गंदगी दिखाई देने लगी है.
यमुना नदी कि ओर से ताजमहल की दीवारें,पच्चीकारी और फर्श हरे रंग की गंदगी से रंग गए है. हालत ये है कि पिछ्ले करीब एक महीने से इसका असर गहरा होता जा रहा है. भारतीय पुरातत्व विभाग के अधीक्षण पुरातत्वविद भुवन विक्रम सिंह ने बताया कि गोल्डी काइरोनोमस का ताज पर असर देखा जा रहा है.
इसके लिए विभाग ने सम्बंधित विभागों को जानकारी देकर ताजमहल की सुंदरता को बनाये रखने के लिए प्रयास शुरू कर दिए हैं. भुवन विक्रम सिंह के मुताबिक़ गोल्डी काइरोनोमस द्वारा छोड़े जा रहे रंग से इसकी सुंदरता पर जरूर दाग लग रहा है. ऐसा नहीं है कि ये दाग छुड़ाए नहीं जा सकते लेकिन इनको छुड़ाने के लिए पानी की जरुरत है जिसे कपड़े से रगड़ कर छुड़ाया जा सकता लेकिन इस विधि से भी ताज में लगे संगमरमर को काफी नुकसान हो सकता है. ताज पर गोल्डी काइरोनोमस के हमले के बाद भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग की नींद टूटी और इस कीड़े के प्रभाव की जांच के लिए सेंट जोन्स कॉलेज के जंतु विभाग के अध्यक्ष डॉ गिरीश माहेश्वरी को जिम्मेदारी सौंपी गई.

लाइफ स्टाइल

गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है गर्दन का दर्द, जान...

PUBLISHED : Aug 22 , 8:03 PM

गर्दन में दर्द की समस्या लगातार बढ़ती जा रही है। शरीर का पॉस्चर ठीक न होने की वजह से गर्दन की मांसपेशियों र्में ंखचाव आ ज...

View all

साइंस

जलवायु परिवर्तन की भेंट चढ़ा ग्लेशियर ओकोजोकुल, आइ...

PUBLISHED : Aug 22 , 8:15 PM

आइसलैंड के निवासी अपने ग्लेशियर के खत्म हो जाने का शोक मना रहे हैं। रविवार को प्रधानमंत्री केटरिन जोकोबस्दोतियर के नेतृत...

View all

वीडियो

View all

बॉलीवुड

Prev Next