गर्म रेत में सिके पापड़, फलौदी में पारा 51 डिग्री

गर्म रेत में सिके पापड़, फलौदी में पारा 51 डिग्री

PUBLISHED : May 22 , 8:58 AMBookmark and Share

   

 जयपुर। आम आदमी जब 40-42 डिग्री तापमान में त्राहि-त्राहि कर उठता है, वहीं भारत के जांबाज सिपाही 46 डिग्री से ऊपर तापमान में अपनी ड्‍यूटी पर डटे हुए हैं। गर्मी भी ऐसी कि तपती रेत पर पापड़ सिक जाए।
 राजस्थान के सीमावर्ती जिले जैसलमेर, बाड़मेर और जोधपुर में भीषण गर्मी का कहर है। इन रेगिस्तानी इलाकों में गर्मी का आलम यह है कि रेत पर रखने से पापड़ सिक रहा है। पिछले एक सप्ताह से यहां तापमान 46 डिग्री से ऊपर चल रहा है। ताजा मामले में तो पारा 49 से 50 डिग्री तक चला गया है। स्थानीय लोगों का तो दावा है कि यह तापमान मौसम विभाग का है। खुले आसमान के नीचे गर्म रेत पर तापमान 55 डिग्री तक चला जाता है।
 
इस भीषण गर्मी में सैनिकों के जूते तक पिघल रहे हैं। इस तापमान में रेत इतनी गर्म हो जाती है कि उस पर रखने से पापड़ भी सिक जाता है। इतना ही नहीं खुले में चावल रख दिए जाएं तो वे भी करीब तीन घंटे में पक जाते हैं।
 
जवानों को यहां गर्मी से बचाव के लिए खुद को पूरी तरह ढंककर रखना पड़ता है, लेकिन गर्मी इतनी है कि सभी इंतजाम नाकाम हो जाते हैं। इसके साथ ही गर्म हवाओं के थपेड़े और धूल भरी हवाएं भी जवानों को परेशान करती हैं।
 
फलौदी सबसे गर्म : मौसम विभाग के सूत्रों के अनुसार पश्चिमी राजस्थान सहित प्रदेश के अधिकांश स्थान लू की चपेट में आ चुके हैं और पिछले 24 घंटों में प्रदेश का फलोदी कस्बा 51 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ सबसे गर्म स्थान रहा। मौसम विभाग ने बताया कि प्रदेश में अगले 24 घंटे में मौसम में कोई सुधार होने की संभावना नहीं हैं। प्रदेश में आमतौर पर मौसम शुष्क रहेगा और कहीं कहीं छितराए बादल छाए रहने की संभावना है।
 
बीकानेर में दो और लोगों की मृत्यु होने के समाचार है। इन मौतों को मिलाकर प्रदेश में अब तक 17 लोगों की मौते हो चुकी है। इनमें सर्वाधिक पांच बीकानेर में हुई है। इसके अलावा जोधपुर में 4, जालोर में 3, कोटा और बाड़मेर में दो-दो तथा सीकर में एक शामिल है।
 
सर्वाधिक तापमान फलौदी में : मौसम विभाग के सूत्रों ने बताया कि पिछले चौबीस घंटों में सर्वाधिक 51 डिग्री सैल्सियस तापमान फलौदी में रहा। इसके अलावा चूरू में अधिकतम तापमान 50 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया हैं। इसी प्रकार बीकानेर एवं बाड़मेर में 49.5 डिग्री, श्रीगंगानगर में 49.1, सवाई माधोपुर में 48.7,जोधपुर में 48.6, टोंक व कोटा में 48.2 तथा जयपुर में अधिकतम तापमान 46.5 डिग्री सैल्सियस दर्ज किया गया हैं।
 
जयपुर 21 मई(वार्ता)राजस्थान के अधिकांश हिस्सें भीषण ताप लहरी की चपेट में आ गए हैं और आगामी 24 घंटों तक मौसम में कोई बदलाव नहीं आने की संभवना हैं। भीषण गर्मी के कारण प्रदेश के बीकानेर जिले में पिछले 24 घँटों में दो और लोगों की मौत हो चुकी है।
       
मौसम विभाग के सूत्रों के अनुसार पश्चिमी राजस्थान सहित प्रदेश के अधिकांश स्थान लू की चपेट में आ चुके हैं और पिछले 24 घंटों में प्रदेश का फलोदी कस्बा 51 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ सबसे गर्म स्थान रहा। मौसम विभाग ने बताया कि प्रदेश में अगले 24 घंटे में मौसम में कोई सुधार होने की संभावना नहीं हैं। प्रदेश में आमतौर पर मौसम शुष्क रहेगा और कहीं कहीं छितराए बादल छाए रहने की संभावना है।
 
बीकानेर में दो और लोगों की मृत्यु होने के समाचार है। इन मौतों को मिलाकर प्रदेश में अब तक 17 लोगों की मौते हो चुकी है। इनमें सर्वाधिक पांच बीकानेर में हुई है। इसके अलावा जोधपुर में 4, जालोर में 3, कोटा और बाड़मेर में दो-दो तथा सीकर में एक शामिल है।
 
मौसम विभाग के सूत्रों ने बताया कि पिछले चौबीस घंटों में सर्वाधिक 51 डिग्री सैल्सियस तापमान फलौदी में रहा। इसके अलावा चूरू में अधिकतम तापमान 50 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया हैं। इसी प्रकार बीकानेर एवं बाड़मेर में 49.5 डिग्री, श्रीगंगानगर में 49.1, सवाई माधोपुर में 48.7,जोधपुर में 48.6, टोंक व कोटा में 48.2 तथा जयपुर में अधिकतम तापमान 46.5 डिग्री सैल्सियस दर्ज किया गया हैं। (फोटो : सोशल मीडिया)

लाइफ स्टाइल

हड्डियां कमजोर क्यों हो जाती हैं, मजबूत हड्डियों क...

PUBLISHED : Oct 22 , 10:53 AM

Food For Strong Bones: धूप से बचने की प्रवृत्ति, कैल्शियम की कमी (Calcium Deficiency) और खराब जीवनशैली के कारण लोगों में...

View all

साइंस

20 साल के स्टूडेंट ने किया कमाल, आलू से बनाई डिग्र...

PUBLISHED : Oct 22 , 11:03 AM

चंडीगढ़: चंडीगढ़ की चितकारा यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट प्रनव गोयल ने आलू में मौजूद स्टॉर्च से प्लास्टिक जैसी एक नई चीज बनाई...

View all

वीडियो

View all

बॉलीवुड

Prev Next