प्राइवेट स्कूलों को सेंटर बनाने से तौबा

PUBLISHED : Jan 16 , 9:32 AMBookmark and Share

भोपाल:हर साल माध्यमिक शिक्षा मण्डल बोर्ड परीक्षाओं का सेंटर बनाने के लिए सरकारी स्कूलों को ही प्रार्थमिकता देता आया है। इस साल भी नकल को रोकने के लिए मण्डल अपने उसी फैसले पर अडिग है । मण्डल परीक्षा सेंटर बनाने के लिए पहले तो अपने सरकारी स्कूलों को ही प्रार्थमिकता देगा..उसके बाद उन स्कूलों को चुना जाएगा जिन्हें सरकारी सहायता मिली हुई है।आखिर में कमी पड़ने पर वो स्कूल चुने जाएंगें जहां पिछले 5 सालों के रिकार्ड के मुताबिक शांतीपूर्ण तरीके से परीक्षा होती आई हैं । ऐसे स्कूलों के नाम मण्डल ने निकाल लिए हैं पर मण्डल के सचिव का कहना है कि अगर सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों से काम हो जाएगा तो वे इस तीसरी केटेगरी में नही जाएंगें।वहीं संवेदनशील परीक्षा केंद्रों में कड़ी निगरानी रखने के लिए मण्डल ने कलेक्टर और एसपी को निर्देश दे दिए हैं साथ ही रिटायर्ड शिक्षा विद्, एसडीएम और तहसीलदार जैसे लोग ओबज़रवर बनकर ऐसे केंद्रों पर कड़ी नजर रखेंगें।


लाइफ स्टाइल

Health Tips : ये 5 प्राकृतिक चीजें है बेहतरीन स्कि...

PUBLISHED : Nov 11 , 6:19 PM

हम में से बहुत से लोग ऐसे होते हैं, जिनका शरीर तो जवां लगता है लेकिन उनके चेहरे पर रौनक नहीं होती। इसके अलावा उनके चेहरे...

View all

साइंस

एवरेस्ट के कचरे से बन रहे प्रॉडक्ट्स, काठमांडू के ...

PUBLISHED : Nov 11 , 6:23 PM

एवरेस्ट पर जमा कचरे से नेपाल में शानदार प्रॉडक्ट्स बनाए जा रहे हैं। कचरे को रिसाइकल कर गुलदस्ते, लैंप और दूसरे उत्पाद बन...

View all

वीडियो

View all

बॉलीवुड

Prev Next