अगर आप भी कर रहे हैं Facebook पर बर्बाद अपना वक़्त, तो ये क्लीनिक छुड़वाएगा आपकी लत

अगर आप भी कर रहे हैं Facebook पर बर्बाद अपना वक़्त, तो ये क्लीनिक छुड़वाएगा आपकी लत

PUBLISHED : Jul 03 , 11:19 AMBookmark and Share

खाली समय में लोग अपना टाइम पास करने के लिए फेसबुक चला लिया करते हैं. पर फेसबुक अब दिन प्रतिदिन नशा बनता जा रहा है. अब फेसबुक में डूबे लोगों के पास इतना वक्त ही नहीं होता कि किसी और काम में मन लगा सकें. कुछ मनोवैज्ञानिकों ने इसे मानसिक बीमारी तक का नाम दे दिया है. इस बीमारी से लोगों को निजात दिलाने को अब क्लीनिक भी खुलने लगे हैं. 'फेसबुक एडिक्शन क्लीनिक' नाम का ये क्लीनिक अल्जीरिया में खुला है.
 
चीन और कोरिया के बाद अल्जीरिया तीसरा ऐसा देश है, जहां इस तरह का क्लीनिक खुला है.
 
कैसे काम करेगा ये फेसबुक एडिक्शन क्लीनिक
 
ये क्लीनिक युवाओं की फेसबुक पर निर्भरता खत्म करने में मदद करेगा. निर्भरता खत्म होते ही लत छुड़वाने की कोशिश की जाएगी. मानव विकास से जुड़े वैज्ञानिक राओफ बोक्वाफा इसके निदेशक हैं. इसकी शुरुआत अल्जीरिया के एक शहर कान्सटेंटाइन में मई महीने से हो चुकी है. इस क्लीनिक में आदत छुड़वाने के लिए विशेषज्ञों का एक समूह और मनोवैज्ञानिक भी हैं. इसकी शुरुआत की वजह अल्जीरिया में तेजी से बढ़ता 'फेसबुक एडिक्शन' है.
 
 
राओफ ने बताया कि फेसबुक की लत भी ड्रग की लत जैसी है. इसको ड्रग्स से कम आंकना एक भूल होगी. फेसबुक और सोशल साइट्स को उन्होंने 'नीला जादू' बताया. उन्होंने फेसबुक एडिक्शन रोकने के लिए क्लीनिक खोलने को जब सोचा, तब उनके पास फेसबुक के तीन प्रभावों को रोकने की चुनौतियां हैं. ये तीन चुनौतियां हैं, मानसिक सुरक्षा, सामाजिक सुरक्षा और काल्पनिक दुनिया में खो जाना.
 
 
राओफ ने फेसबुक को कट्टरपंथ का माध्यम बताया. उन्होंने कहा कि फेसबुक के लती लोगों को भड़काना बहुत आसान होता है. आज के समय में नए कट्टरपंथियों को भर्ती करने का ज़रिया बन गया है. यह उनके लिए भर्ती का एक बड़ा ज़रिया बन चुका है. इसे रोकने के लिए पहले हमें लोगों की फेसबुक की लत छुड़वानी होगी. ऐसा माना जा रहा है कि वे जल्द ही फेसबुक के लत के कारण का पता लगा लेंगे. फिर उनके क्लीनिक को इलाज में ज़्यादा परेशानी नहीं होगी.
 
हमारे देश में भी ऐसे किसी क्लीनिक की बहुत ज़्यादा और अतिशीघ्र ज़रूरत है, ताकि अच्छा भला लड़का एंजेल प्रिया या Heart Broker Ravi ना बने. 

लाइफ स्टाइल

हड्डियां कमजोर क्यों हो जाती हैं, मजबूत हड्डियों क...

PUBLISHED : Oct 22 , 10:53 AM

Food For Strong Bones: धूप से बचने की प्रवृत्ति, कैल्शियम की कमी (Calcium Deficiency) और खराब जीवनशैली के कारण लोगों में...

View all

साइंस

20 साल के स्टूडेंट ने किया कमाल, आलू से बनाई डिग्र...

PUBLISHED : Oct 22 , 11:03 AM

चंडीगढ़: चंडीगढ़ की चितकारा यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट प्रनव गोयल ने आलू में मौजूद स्टॉर्च से प्लास्टिक जैसी एक नई चीज बनाई...

View all

वीडियो

View all

बॉलीवुड

Prev Next