कायनात कुछ कहती है आपसे

कायनात कुछ कहती है आपसे

PUBLISHED : Jul 22 , 6:51 PMBookmark and Share

 

 

जब आप ब्रह्मांड से कहते-सुनते हैं, तो वह भी आपको बहुत गहरे संकेत भेजता है। फिर यह भी जान पाते हैं कि आप सही रास्ते पर हैं या फिर अपने उद्देश्यों की ओर ले जाने वाले रास्ते से भटक गए हैं।

 

सबके जीवन का एक अनूठा उद्देश्य होता है। और उस उद्देश्य को ढूंढ़ना तथा उसका अनुसरण करना ही अपने लिए एक खुशहाल, पूर्ण, सार्थक और संतोषप्रद जीवन के निर्माण की कुंजी है। हालांकि कभी-कभी किन्हीं कारणों से, अनजाने ही आप जीवन के उद्देश्य से दूर हो जाते हैं।

 

यह भी हो सकता है कि आपको ऐसा लग रहा हो कि आप सही रास्ते पर आगे बढ़ रहे हैं, जबकि हकीकत ये होती है कि आप जिस ओर जाना चाह रहे हैं, उसकी उल्टी दिशा में बढ़ रहे हैं। लेकिन इस सबके बीच एक अच्छी बात यह है कि ब्रह्मांड चाहता है कि आप अपने जीवन के उद्देश्य का अनुसरण करें और दुनिया को अपना सर्वश्रेष्ठ दिखा सकें। जब आप ब्रह्मांड की सुनते हैं, तो वह आपको बहुत गहरे संकेत भेजता है, जिनसे पता चलता है कि आप किस ओर बढ़ रहे हैं? अगर आप अपने जीवन में इनमें से किसी भी एक संकेत को नोटिस करते हैं, तो यह आपके लिए स्पष्ट इशारा है कि आपको अपने गलत रास्ते को सुधारने की जरूरत है।

 

1. जिन चीजों को आप प्यार करते थे, उनमें रुचि नहीं

जीवन में अपने उद्देश्य को पूरा करने में आपकी गहन दिलचस्पी होनी चाहिए। अगर लगता है कि आपका कार्य अपना अर्थ और प्रासंगिकता खो चुका है, तो यह ब्रह्मांड का इशारा हो सकता है कि आप जीवन के सही उद्देश्य से दूसरी ओर मुड़ गए हैं। खुद से सवाल कीजिए- मैं क्या बदलाव कर सकता हूं या क्या ऐसा कर सकता हूं, जिससे मेरा काम संतुष्टि देने वाला हो और मैं यूं ही, बस अनमने ढंग से कुछ भी न करता रहूं?.

 

2. बदलाव की बेकरारी

अगला संकेत यह है कि आपके अंदर बदलाव की चाहत निरंतर जोर मार रही है। हम सभी नए अनुभवों से गुजरना चाहते हैं। यह मनुष्य जीवन का स्वाभाविक और महत्वपूर्ण अंग है। लेकिन जब आप अपने उद्देश्य को जी रहे होते हैं, तो हर समय कुछ अलग करने की लालसा नहीं रखते। आप जो कर रहे होते हैं, वह आपको बहुत पसंद होता है और आप कोई दूसरी चीज नहीं करना चाहते। इसलिए अगर आप खुद को दूसरी चीजें करते हुए देखने की लगातार कल्पना करते रहते हैं, तो यह स्पष्ट संकेत है कि वास्तव में आपको बदलाव की जरूरत है।.

 

3. आप तनाव से ग्रसित हैं

तनाव वह तरीका है, जिसके जरिये आपका मस्तिष्क और शरीर आपको यह बताते हैं कि आपके जीवन में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा। कोई ऐसी चीज है, जो सही नहीं है। कई बार आपके तनाव का कारण स्पष्ट होता है, जैसेकि तनावपूर्ण रिश्ते, आर्थिक कठिनाइयां या ऐसे ही कुछ दूसरे कारण। वहीं कई बार ऐसा भी होता है कि जब यह जान पाना मुश्किल होता है कि आप तनाव क्यों महसूस कर रहे हैं। सामान्य रूप से देखने पर हर चीज ठीक मालूम पड़ती है, लेकिन फिर भी सहज महसूस नहीं कर पाते और खुश नहीं रह पाते। यह स्पष्ट संकेत है कि आपने वर्तमान में अपने जीवन की जो दिशा तय की है, वह आपको वो खुशी और संतोष प्रदान नहीं कर रही है, जिसकी चाहत थी।.

 

4. आप जो कर रहे हैं उससे खुश नहीं हैं

खुशी सबसे अच्छी फीडबैक है, जो बताती है कि आप सही रास्ते पर हैं। अगर आप अपनी खुशी का अनुसरण करते हैं, तो यह आपको आपके सपनों की दिशा में ले जाएगी, क्योंकि जब आप जीवन सही उद्देश्य के साथ जीते हैं, तो इससे ज्यादा खुशी व संतोष कोई और चीज नहीं ला सकती। इसलिए अगर रोजमर्रा के जीवन में आनंद का अनुभव नहीं हो रहा है, तो यह बड़ा संकेत है कि आप सही मार्ग पर नहीं हैं। जब आप उन संदेशों पर ध्यान देते हैं, जो ब्रह्मांड भेजता है, तो आप अपनी दिशा बदल सकते हैं। अपनी खुशी का इस्तेमाल दिशा-सूचक यंत्र की तरह कर सकते हैं, जो आपको उस रास्ते को ढूंढ़ने में मदद करेगा, जो आपको जीवन के सपनों की ओर ले जाता है।

 

5. आप नाराज चिढ़े हुए हैं

जब आपको हर छोटी बात से चिढ़ और नाराजगी महसूस होने लगती है, तो समय आ गया है कि बदलाव की ओर नजर दौड़ाएं। मैं ऐसी चीजों की बात नहीं कर रहा हूं, जिससे ज्यादातर को गुस्सा आता है, जैसेकि काम में नुकसान होने पर या ट्रैफिक में कोई बहुत खराब तरीके से ओवरटेक करने पर चिढ़ होती है। मैं उन चीजों की बात कर रहा हूं, जो सामान्य तौर पर इतना गुस्सा दिलाने वाली नहीं होती। अगर ऐसा होता है, तो समझ लें कि कायनात कह रही है- आप गलत रास्ते पर हैं।

 

6. आप लंबे से अबूझ दर्द से गुजर रहे हैं

एक और चीज है, जिस पर नजर रखने की जरूरत है। वह है- ऐसा पुराना दर्द, जिसकी वजह आपको पता नहीं चल रही। दर्द इस बात का संकेत होता है कि आपके शरीर के साथ कुछ ठीक नहीं है। लेकिन यह इस बात का भी संकेत है कि जीवन में कोई चीज ठीक नहीं है। अगर दर्द लगातार बना हुआ है और डॉक्टर इसका कारण नहीं समझ पा रहे हैं तो यह संकेत है कि आप सही पथ पर नहीं हैं। दरअसल, जब अवचेतन या मन के किसी गहरे तल में यह बात चल रह होती है कि आप वैसा जीवन नहीं जी पा रहे हैं, जो आपके लिए मायने रखता है, तो आपका अवचेतन यह संदेश शारीरिक पीड़ा के रूप में भेजता है। मैं ऐसे कई लोगों का जानता हूं, जिनकी अबूझ पीड़ा उस कम या समाप्त हो गई, जब उन्होंने अपने जीवन में सही बदलाव किए और अपने जीवन के सही उद्देश्य का अनुसरण करना शुरू कर दिया। एक डॉक्टर, जो कुछ साल पहले मेरी ट्रेनिंग में था, लगातार माइग्रेन के दर्द से परेशान रहता था। जब हमने बात की, तो उसने बताया कि वह कभी डॉक्टर नहीं बनना चाहता था। उसकी इच्छा कारों पर काम करने की थी। लेकिन उसके परिवार में सब डॉक्टर थे। कार का काम करना उनकी हैसियत के बराबर नहीं था। इसके बावजूद उसने कुछ दिनों बाद हॉस्पिटल से इस्तीफा दे दिया और एक गराज खोल लिया, जहां वह विदेशी कारों पर काम करता था। इसके बाद उसका माइग्रेन का दर्द गायब हो गया।

 

 

(जैक कैनफील्ड अमेरिका के प्रसिद्ध लेखक और मोटिवेशनल स्पीकर। बेस्टसेलर किताब चिकन सूप फॉर सोलशृंखला के सह-लेखक हैं।)

लाइफ स्टाइल

हड्डियां कमजोर क्यों हो जाती हैं, मजबूत हड्डियों क...

PUBLISHED : Oct 22 , 10:53 AM

Food For Strong Bones: धूप से बचने की प्रवृत्ति, कैल्शियम की कमी (Calcium Deficiency) और खराब जीवनशैली के कारण लोगों में...

View all

साइंस

20 साल के स्टूडेंट ने किया कमाल, आलू से बनाई डिग्र...

PUBLISHED : Oct 22 , 11:03 AM

चंडीगढ़: चंडीगढ़ की चितकारा यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट प्रनव गोयल ने आलू में मौजूद स्टॉर्च से प्लास्टिक जैसी एक नई चीज बनाई...

View all

वीडियो

View all

बॉलीवुड

Prev Next