सर्वदलीय बैठकः भारत-चीन गतिरोध और कश्मीर सुरक्षा को लेकर विपक्ष से चर्चा करेगी सरकार

सर्वदलीय बैठकः भारत-चीन गतिरोध और कश्मीर सुरक्षा को लेकर विपक्ष से चर्चा करेगी सरकार

PUBLISHED : Jul 14 , 8:44 AMBookmark and Share



चीन और भारत के बीच चल रहे गतिरोध और जम्मू-कश्मीर के सुरक्षा हालात को लेकर केंद्र सरकार ने आज सर्वदलीय बैठक बुलाई है। ये बैठक आज शाम गृहमंत्री राजनाथ सिंह पर आवास पर बुलाई गई है। बैठक में सरकार इन मुद्दों पर विपक्ष से चर्चा करेगी और सरकार की रणनीति से विपक्षी दलों को अवगत कराएगी।

राजनाथ सिंह के आवास पर होने वाली इस सर्वदलीय बैठक में सुषमा स्वराज, राजनाथ सिंह के अलावा सभी बड़े मंत्री मौजूद रहेंगे। इस बैठक में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज चीन के साथ जारी सीमा विवाद पर सरकार का पक्ष विपक्ष दलों के सामने रखेंगी। जबकि गृहमंत्री राजनाथ सिंह कश्मीर के ताज़ा हालात पर बात करेंगे।

संसद में मुद्दा उठा सकता है विपक्ष

सूत्रों ने बताया कि सोमवार को संसद का मानसून सत्र शुरू हो रहा है। इससे पहले सरकार चीन और कश्मीर मुद्दे से निपटने के बारे में आमसहमति बनाना चाहती है। बता दें कि हाल में भारत ने चिंता व्यक्त की है कि भारत-तिब्बत से सटे सिक्किम क्षेत्र में डोकाला में चीन यथास्थिति को बदलने का प्रयास कर रहा है। डोकाला में भारतीय सैनिकों ने चीनी सैनिकों को सड़क निर्माण करने से रोक दिया था। यह क्षेत्र भूटान-भारत-तिब्बत तिराहे पर आता है और चीन इसपर दावेदारी कर रहा है।

इस बैठक को संसद के मानसून सत्र से पहले विपक्ष के साथ बेहतर तालमेल बनाने को लेकर सरकार की कोशिश माना जा रहा है। सरकार जानती है कि विपक्ष कश्मीर और चीन के मुद्दे पर सरकार को घेरेगा, इसीलिए पीएम मोदी ने राजनाथ और सुषमा के जरिए विपक्ष को भरोसे में लेने की कोशिश की है।  

वहीं, जम्मू-कश्मीर के पुलावामा, शोपियां, कुलगाम और अनंतनाग में पिछले साल 8 जुलाई को हिजबुल कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से ही तनाव का माहौल है। सोमवार को अनंतनाग में ही में आतंकियों ने अमरनाथ यात्रियों के बस पर हमला कर सात श्रद्धालुओं की हत्या कर दी थी।

भारत ने ठुकराया चीन का प्रस्ताव
चीन के कश्मीर में सकारात्मक भूमिका निभाने संबंधी बयान को भारत ने कोई तवज्जो नहीं दी है। चीन का प्रस्ताव ठुकराते हुए भारत ने कहा कि मामले के मूल में सीमा पार से भारत में फैलाया जा रहा आतंकवाद है। इससे पूरे क्षेत्र में शांति और स्थिरता को खतरा उत्पन्न हो गया है।
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने कहा, भारत की स्थिति पूरी तरह से स्पष्ट है। द्विपक्षीय ढांचे में जम्मू कश्मीर समेत सभी मुद्दों पर पाकिस्तान से बातचीत करने के भारत के रुख में कोई बदलाव नहीं आया है। बता दें कि चीन ने बुधवार को कहा था कि कश्मीर हालात ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय का ध्यान अपनी तरफ खींचा है। वह कश्मीर पर भारत व पाकिस्तान के संबंधों को सुधारने के लिए रचनात्मक भूमिका निभाने को तैयार है। लेकिन, चीन ने सोमवार को कश्मीर में अमरनाथ यात्रा के तीर्थयात्रियों पर हुए आतंकवादी हमले पर कुछ नहीं कहा।

लाइफ स्टाइल

हड्डियां कमजोर क्यों हो जाती हैं, मजबूत हड्डियों क...

PUBLISHED : Oct 22 , 10:53 AM

Food For Strong Bones: धूप से बचने की प्रवृत्ति, कैल्शियम की कमी (Calcium Deficiency) और खराब जीवनशैली के कारण लोगों में...

View all

साइंस

20 साल के स्टूडेंट ने किया कमाल, आलू से बनाई डिग्र...

PUBLISHED : Oct 22 , 11:03 AM

चंडीगढ़: चंडीगढ़ की चितकारा यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट प्रनव गोयल ने आलू में मौजूद स्टॉर्च से प्लास्टिक जैसी एक नई चीज बनाई...

View all

वीडियो

View all

बॉलीवुड

Prev Next