लोगों की जिंदगी में उजाला लायेगी, उजाला योजना - मुख्यमंत्री श्री चौहान

लोगों की जिंदगी में उजाला लायेगी, उजाला योजना - मुख्यमंत्री श्री चौहान

PUBLISHED : May 01 , 10:37 AMBookmark and Share


उजाला ऊर्जा सुरक्षा की महत्वाकांक्षी योजना - केन्द्रीय राज्य मंत्री श्री गोयल
प्रदेश में उजाला योजना प्रारंभ

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि उजाला योजना लोगों की जिंदगी में उजाला लायेगी। इससे उपभोक्ताओं और ऊर्जा विभाग दोनों की बचत होगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज यहाँ मुख्यमंत्री निवास में उजाला (ऊर्जा दक्ष एल.ई.डी. बल्ब वितरण योजना) के शुभारंभ समारोह को संबोधित कर रहे थे। समारोह में केन्द्रीय ऊर्जा एवं कोयला राज्य मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कहा कि उजाला योजना देश की ऊर्जा सुरक्षा की महत्वाकांक्षी योजना है। इससे ऊर्जा की बचत होगी और प्रदूषण कम होगा। कार्यक्रम में सांकेतिक रूप से छह नागरिकों को एल.ई.डी. बल्ब वितरित किये गये।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नागरिकों से अपील की कि उजाला योजना में पुराने बल्बों को बदलकर एल.ई.डी. बल्ब लगायें। यह सबके फायदे की योजना है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में वर्ष 2018 तक 20 हजार मेगावॉट बिजली बनायी जायेगी। गरीब महिलाओं के लिये केन्द्र द्वारा उज्जवला योजना शुरू की जा रही है। जिसमें गरीब महिलाओं को नि:शुल्क रसोई गैस चूल्हा और गैस सिलेंडर दिया जायेगा। गरीब और कमजोर वर्ग का विकास राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसीलिये राज्य सरकार ने गरीबों को एक रुपये किलो गेहूँ और एक रुपये किलो चावल देने की योजना शुरू की है। अब मध्यप्रदेश में हर गरीब को मकान बनाने के लिये जमीन उपलब्ध करवायी जायेगी। साथ ही मकान बनाने के लिये सहायता भी दी जायेगी। ग्रामोदय से भारत उदय अभियान की तरह शहरों में भी आगामी जुलाई-अगस्त माह में अभियान चलाया जायेगा। महिलाओं के स्वास्थ्य परीक्षण का अभियान भी चलाया जा रहा है।

केन्द्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री श्री गोयल ने कहा कि उजाला योजना में सभी पुराने बल्बों को बदल कर एल.ई.डी. बल्ब लगाये जायेंगे। पिछले एक वर्ष में देश में 9 करोड़ एल.ई.डी. बल्ब लगाये गये हैं जिससे वर्ष भर में 5,500 करोड़ रुपये की बचत होगी। वर्ष 2019 तक देश में 77 करोड़ पुराने बल्ब बदलकर एल.ई.डी. बल्ब लगाये जायेंगे, जिससे जनता को 40 हजार करोड़ रुपये का लाभ होगा। विभाग द्वारा मोबाइल एप बनाया गया है जिसमें अब तक लगाये गये एल.ई.डी. बल्ब की देश-प्रदेश और शहरवार जानकारी मिलती है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य बने जहाँ हर घर में एल.ई.डी. बल्ब लगा हो। मध्यप्रदेश में नवकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में उल्लेखनीय काम किया गया है। केवल दो वर्ष में नवकरणीय ऊर्जा उत्पादन की क्षमता 800 मेगावॉट से बढ़ाकर 3000 मेगावॉट की गई है।

प्रदेश के ऊर्जा एवं जनसंपर्क मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि ऊर्जा के उत्पादन के साथ संरक्षण भी महत्वपूर्ण है। प्रदेश में योजना के तहत तीन करोड़ एल.ई.डी. बल्ब बाँटे जायेंगे। इससे 2,500 करोड़ रुपये की बचत होगी। प्रदेश में 24 घंटे बिजली आपूर्ति की जा रही है। राज्य ऊर्जा विकास निगम के अध्यक्ष श्री विजेन्द्र सिंह सिसोदिया ने स्वागत भाषण दिया। प्रमुख सचिव श्री मनु श्रीवास्तव ने योजना की जानकारी दी।

कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री श्री कैलाश जोशी, महापौर श्री आलोक शर्मा, सांसद श्री आलोक संजर, विधायक सर्वश्री विश्वास सारंग, रामेश्वर शर्मा, सुरेन्द्र नाथ सिंह और विष्णु खत्री उपस्थित थे। आभार प्रदर्शन एनर्जी एफिशियेंसी सर्विसेस लिमिटेड के प्रबंध संचालक श्री सौरभ कुमार ने किया।

लाइफ स्टाइल

अगर रात में स्मार्टफोन पास रखकर सोते है तो जरूर प...

PUBLISHED : Dec 13 , 9:48 PM

स्मार्टफोन के अधिक उपयोग से हमारे मन की स्थिति तो प्रभावित हो ही रही है, अब इसका असर लोगों के यौन जीवन पर पड़ने की बात भी...

View all

साइंस

दुनिया में बढ़ती गर्मी से उजड़ सकता है मत्स्य जीवन...

PUBLISHED : Dec 13 , 10:01 PM

दुनिया में तेजी से हो रहे जलवायु परिवर्तन के कारण मत्स्य उद्योग और प्रवाल भित्ति पर्यटन बर्बाद हो सकता है जिससे वर्ष 205...

View all

वीडियो

View all

बॉलीवुड

Prev Next