सूखे और अकाल से बेहाल बुंदेलखंड में एक और किसान ने दी जान

सूखे और अकाल से बेहाल बुंदेलखंड में एक और किसान ने दी जान

PUBLISHED : Apr 15 , 12:05 PMBookmark and Share

सूखे और अकाल से बेहाल बुंदेलखंड में एक और किसान ने दी जान
 
सूखे और अकाल से बेहाल बुंदेलखंड में किसानों की आत्महत्या का दौर थमता नहीं दिख रहा. बांदा में गुरुवार को फिर एक अविवाहित युवा अन्नदाता ने फांसी लगाकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली. ख़ुदकुशी के पीछे फसलों की बर्बादी और बैंक और साहूकारों का क़र्ज़ मुख्य कारण बताया जा रहा है.
 
मृतक की मां पर बैंक और साहूकारों का 6 लाख का कर्ज भी बताया जा रहा है जिसके चलते इस युवा किसान ने आत्महत्या कर ली. फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजवा दिया है.
आपको बता दें की एक हफ्ते के भीतर यह तीसरी घटना है. इसी कोतवाली क्षेत्र के पचनेही गांव में भी दो किसानों--शिवमोहन और ज्ञानबाबू ने भी कर्ज के चलते आत्महत्या कर ली थी.
 
बांदा के देहात कोतवाली के ग्राम बहेड़ी गांव में सत्येंद्र नाम के युवक की लाश घर के कमरे में झूलती मिली. जवान बेटे की मौत की खबर सुनकर मृतक के घर में कोहराम मच गया. मृतक के परिजनों का कहना है कि बैंक और साहूकारों का 6 लाख का क़र्ज़ था और वह फसल ख़राब हो जाने से परेशान था. उस पर फिर फसल बर्बाद होने से और बढ़ते ब्याज से सत्येंद्र मानसिक रूप से परेशान था इसी को लेकर उसने फांसी लगायी.

लाइफ स्टाइल

Covid-19 से बचना है तो धूम्रपान से करें तौबा वरना ...

PUBLISHED : Apr 20 , 10:50 PM

किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय (केजीएमयू) लखनऊ की कोरोना टास्क फोर्स के सदस्य डॉ़ सूर्यकान्त ने कहा है कि कोरोनावाय...

View all

साइंस

कोरोना वायरस: Lockdown के कारण लोग घरों में बैठे ह...

PUBLISHED : Apr 20 , 10:54 PM

नई दिल्‍ली: कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण दुनिया भर में लोग लॉकडाउन के कारण अपने घरों में बैठे हैं. इससे वायु प्रदू...

View all

वीडियो

View all

बॉलीवुड

Prev Next